लिथुआनिया पहुँची गुरुज्ञान की लाल मशाल

लिथुआनिया : अपने लंदन और यूरोप के दौरे में दे० सं० वि० वि० के प्रति कुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने बाल्टिक समुद्र के पास स्थित लिथुआनिया देश का दौरा किया जिसमे अनेक महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ के पुष्पगुच्छ उन्होंने दिवाली के पावन पर्व पर गुरुसत्ता के श्रीचरणों में समर्पित किये। इस दौरे में विधिवत रूप से लिथुआनिया में अखिल विश्व गायत्री परिवार की एक शाखा की स्थापना हुई। स्थापना के अवसर पर आयोजित दीप यज्ञ में लिथुआनिया के विभिन्न शहरों से पधारे 100 से अधिक परिजन व अन्य प्रतिभाओं ने हर्ष और उल्लास से भाग लिया व कार्यक्रम के समापन में गायत्री माता की जय और जय महाकाल के जय घोष वातावरण में तरंगित हो उठे। उल्लेखनीय है की वर्तमान में दे० सं० वि० वि० के 11 विद्यार्थी अपने सेमेस्टर एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत लिथुआनिया के विभिन्न शहरों में शिक्षारत है और इस नवीन शाखा की स्थापना में इन सबकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। इसके अतिरिक्त डॉ. पंड्या जी ने विभिन्न महत्वपूर्ण प्रतिभाओं से मुलाक़ात की व कलायपेड़ा विशविद्यालय के साथ एक महत्वपूर्ण अनुबंध पर हस्ताक्षर किये।

You may also like...