भारत में जन्म लेना हमारे लिए सौभाग्य की बात : हर्षवर्धन जी

सिविल सर्विस व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए आयोजित युवा अभ्युदय कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि भारत में जन्म लेना हम सबके लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि देश की संस्कृति को गहराई से समझने की आवश्यकता है। मस्तिष्क सबके पास है, मजबूत बनाकर इसका सदुपयोग करना आना चाहिए।

सिविल लाइंस स्थित शाह ऑडिटोरियम में दिव्य भारत युवा संघ के तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम में काफी संख्या में लोग हिस्सा लेने पहुंचे थे। युवाओं को संबोधित करते हुए अखिल विश्व गायत्री परिवार के वरिष्ठ प्रतिनिधि डॉ. ओपी शर्मा जी ने कहा कि सफलता हमें शक्ति से मिलती है और शक्ति साधना से प्राप्त होती है। जो चीजें प्रयोग में नहीं हैं उनको साध लेना ही साधना है। शक्तियों का ठीक से प्रयोग करने पर कोने-कोने में सफलता मिलती है। तनाव दूर करने के लिए युवा दूसरों की प्रसन्नता को देखें और निंदा करने से बचें। युवा अवस्था के प्रारंभ होने पर युवाओं को लक्ष्य निर्धारण करना आना चाहिए। वहीं, अखिल विश्व गायत्री परिवार की युवा प्रकोष्ठ के प्रमुख केपी दुबे जी ने कहा कि जीवन में कई बार ऐसा समय आता है जब युवा भौतिक वस्तु का चयन कर लेते हैं और अध्यात्म को छोड़ देते हैं। जब कभी युवा खड़ा हुआ है क्रांति हुई है। वर्ष 2013 में यूपीएससी परीक्षा के टॉपर रहे गौरव अग्रवाल ने कहा कि जो आइएएस बनना चाहता है उसके अंदर पढ़ने का शौक होना जरूरी है। किसी भी कार्य को करने के लिए उसके प्रति समर्पण का भाव होना चाहिए। दिव्य भारत युवा संघ के दिल्ली संयोजक मनीष कुमार सिंह ने कहा कि युवा स्वस्थ होकर संबल और शालीन होकर श्रेष्ठ बनता है। उसके स्वावलंबी बनने पर राष्ट्र संपन्न होता है। सेवाभावी युवा को सुख और समृद्धि की प्राप्ति होती है।

You may also like...